प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना से जुडी महत्वपूर्ण जानकारी। 

नमस्कार दोस्तों आज हम आपको भारत सरकार की आरोग्य से संबंधित महत्वपूर्ण योजना ( प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना ) के बारे में जानकारी देने वाले हैं। इस योजना के अंतर्गतय आम व्यक्तियों की आरोग्य से संबंधित सभी परेशानियों का समाधान ढूंढने का प्रयास भारत सरकार द्वारा किया गया है।

जैसा कि हम सब जानते हैं भारत में बढ़ती हुई आबादी और होने वाले आपत्ती और मौसम के बदलाव के कारण जन जीवन का आरोग्य संकट में दिखाई देता है। बढ़ते हुए रोग बीमारी प्रदूषण के कारण व्यक्तियों को आरोग्य से लेकर कई समस्याएं उत्पन्न होती हैं।

Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana
Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana

और इन्हीं समस्याओं का समाधान ढूंढने के लिए अगर किसी प्राइवेट अस्पताल में इलाज करने के लिए जाते हैं तब उन्हें बड़ी मात्रा में अपने मेहनत से कमाए हुए पैसे भरने पड़ते हैं। प्राइवेट अस्पतालों में किसी भी ऑपरेशन या बीमारी का इलाज करने के लिए बड़ी मात्रा पैसे लिए जाते हैं।

भारत की आधी जनता आज भी गरीबी में अपना जीवन व्यतीत कर रही है इसीलिए हर कोई प्राइवेट अस्पतालों में जाकर पैसे भर कर अपना और अपने परिवार का इलाज नहीं कर सकता।

इसी बात को ध्यान में रखते हुए भारत सरकार ने आरोग्य से संबंधित एक योजना बनाने का फैसला किया जिसके अनुसार में इस योजना का निर्माण किया गया।

कैसे हुई शुरुआत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना की ?

इस योजना की शुरुआत 15 अगस्त को लाल किले से पंतप्रधान नरेंद्र मोदी जी ने की थी।

तब उन्होंने देश के लिए स्वस्थ जीवन का तोहफा स्वतंत्रता दिन भर भारत सरकार की ओर से हम आपको दे रहे हैं इस प्रकार उन्होंने इस योजना का कम शब्दों में वर्णन किया ।

कौन ले सकते हैं प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का लाभ ?

आर्थिक रूप से जो व्यक्ति अपना और अपने परिवार का इलाज नहीं कर सकता यह नहीं कि जिसके आर्थिक परिस्थिति अच्छी ना हो वैसे व्यक्ति 500000 तक के मुफ्त इलाज इस योजना के अंतर्गत कर सकते हैं।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना
Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana

इस योजना का लाभ लेते हुए व्यक्ति सिर्फ उन्हें अस्पतालों में अपना इलाज करा सकते हैं जो भारत सरकार ने इस योजना के लिए चुने हुए हैं यानी पंजीकृत अस्पतालों से ही व्यक्ति अपने परिवारों के सदस्यों का ₹500000 तक का मुफ्त इलाज करवा सकते हैं।

इस योजना के अंतर्गत ना केवल व्यक्ति को अस्पताल में भर्ती होने और इलाज करने का खर्चा दिया जाता है बल्कि उसे आने जाने का भी खर्चा दिया जाता है।

लाभार्थी परिवार को इलाज के दौरान एक स्मार्ट की काट दिया जाता है जिसमें सारी जानकारियां मौजूद होती है यह कारण योजना के संबंधी सारी जानकारियां व्यक्ति को देता है इसलिए यह का ध्यान पूर्वक संभालना पड़ता है।

इस योजना का लाभ लेने के लिए लगने वाले दस्तावेज

व्यक्ति को इस योजना का लाभ लेने के लिए अपने पास आधार कार्ड अथवा वोटिंग कार्ड कोई भी एड्रेस प्रूफ डॉक्यूमेंट अपने साथ रखना जरूरी होता है। इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन फॉर्म उपलब्ध होते हैं यहां ऑनलाइन फॉर्म भरकर आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

इस योजना का लाभ लेने के लिए आपके पास आय प्रमाण पत्र होना चाहिए जिससे आपकी आर्थिक परिस्थिति अच्छी है या नहीं इसकी जानकारी मिलती है।

आवेदन करते समय आपके पास आपका पासपोर्ट साइज फोटो अनिवार्य होता है। योजना का लाभ सिर्फ आर्थिक रूप से कमजोर रहने वाले लोग ही ले सकते हैं।

इस योजना की सही मात्रा में शुरुआत प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 15 अगस्त को आयुष्यमान भारत योजना के तहत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना का ऐलान किया था।

25 सप्टेंबर 2018 में दीनदयाल उपाध्याय के जन्मदिन के मौके पर इस योजना का प्रारंभ हुआ था। इस योजना का लाभ बड़े से लेकर बूढ़े तक और बूढ़े से लेकर बच्चों तक सभी ले सकते हैं लेकिन यह निर्धारित उनकी आय प्रमाण पत्र पर होता है।यदि आपकी आय प्रमाण पत्र में आपकी आर्थिक परिस्थिति कमजोर हो तभी आप इस योजना का लाभ ले सकते हैं।

इस प्रकार भारत सरकार ने सिर्फ आर्थिक रूप से दुर्बल रहने वाले परिवारों को ही इस योजना का भाग बनाया है। जिससे भारत सरकार पर भी किसी प्रकार का आर्थिक दबाव ना हो। जिनकी आर्थिक परिस्थिति अच्छी हो वह किसी प्राइवेट अस्पताल में अन्य कई बीमा कंपनियों से अपना इलाज करवा सकते हैं। लेकिन जिनकी आर्थिक परिस्थिति कमजोर हो हो ऐसे परिवार और ऐसे व्यक्ति प्राइवेट अस्पताल में अपना इलाज नहीं करवा सकते क्योंकि प्राइवेट अस्पताल में रहने वाले फीस बहुत ज्यादा होती है इसी कारण वह अपना इलाज प्राइवेट अस्पतालों में नहीं करवा सकते इसीलिए उनकी यह समस्या दूर करने के लिए नरेंद्र मोदी सरकार ने इस योजना का निर्माण किया। भारत के 10 करोड़ से ऊपर परिवारों ने इस योजना का अभी तक लाभ लिया है। 500000 तक के मुफ्त इलाज इस योजना के अंतर्गत दुर्बल परिवारों को दिए जाते हैं। जिससे उनके स्वास्थ्य में सुधार होते हैं और उनको होने वाली बीमारियां रोग और आपत्तियों के कारण होने वाले नुकसान से उभारा जाता है और उनका स्वास्थ्य ठीक रहे इसके बारे में भारत सरकार ने जिम्मेदारी उठाई है।

प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना
Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana

इस योजना का लाभ लेने के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरना पड़ता है। ऑनलाइन फॉर्म आसानी से उपलब्ध होता है। यदि व्यक्ति को और उसके परिवार को ऑनलाइन फॉर्म की जानकारी ना हो तब वह इस फॉर्म की जेरोक्स निकालकर भी भर सकते हैं। लेकिन ऑनलाइन फॉर्म भरने से आपके काम जल्दी पूरे होते हैं। इस फोन को अपने आधार कार्ड की एक जेरॉक्स एक वोटिंग आईडी के जेरॉक्स रेशन कार्ड और अपना आय प्रमाण पत्र जोड़ना पड़ता है।

यदि आपके पास पैन कार्ड हो तब वह वह भी जुड़ सकते हैं। यह योजना केवल आर्थिक रूप से दुर्बल रहने वाले व्यक्तियों के लिए और उनके परिवारों के लिए होने के कारण आपके पास बीपीएल कार्ड होना भी जरूरी होता है इससे आपकी आर्थिक परिस्थिति जानने में सरकारी कर्मचारियों को ज्यादा समय नहीं लगता आपका इलाज भी जल्दी से शुरू किया जा सकता है।

भारत सरकार के द्वारा शुरू की गई प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आर्थिक रूप से दुर्बल लोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद साबित हुई है यदि आपके आसपास आपके दोस्त परिवार में ऐसे आर्थिक रूप से दुर्बल रहने वाले लोग जिन्हें आप जानते हैं उन्हें इस योजना के बारे में बताकर उन्हें इस योजना के बारे में जागरूक करके उन्हें इस योजना का लाभ लेने के लिए मदद कर सकते हैं।

loading...

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *