प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना – Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana

0
Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana
Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना क्या है?

हेलो दोस्तों आज हम आपको एक महत्वपूर्ण योजना (प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना) के बारे में जानकारी देने वाले हैं यह योजना ग्रामीण विभागों के लिए एक महत्वपूर्ण योजना है। ग्रामीण विभागों का शहर विभागों से संबंध स्थापित करना और आने-जाने की सुविधा अधिक तेजी से और गलत करना यह इस योजना का मुख्य उद्देश्य है।

जैसा कि हमें पता है ग्रामीण विभागों में रहने वाली सड़क बहुत ही कच्ची और कमजोर होती है इसके कारण गांव में जाने के लिए और गांव से शहरों में आने के लिए बहुत ही तकलीफों का सामना करना पड़ता है।

सड़क ना होने के कारण कोई सुविधा जल्दी नहीं मिल पाती और आने-जाने में होने वाली तकलीफ और उससे होने वाले नुकसान से ग्रामीण विभागों में कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है यह केंद्र सरकार के ध्यान में आते हैं उन्होंने ग्रामीण विभागों से शहरों तक अच्छी सड़क बनाने का एक फैसला किया और उसके अनुसार उन्होंने एक योजना शुरू की जिसमें ग्रामीण विभागों से शहरों से जोड़ने का काम किया जाएगा यानी ग्रामीण विभागों में अच्छे सड़क बनाने का काम यह योजना के अंतर्गत किया जाएगा।

ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा नियंत्रित और संचालित की जाती है ग्रामीण विकास मंत्रालय में ग्रामीण विभागों में होने वाली समस्या और उनके होने वाले नुकसान के बारे में सूचित किया जाता है और वह उन्हें उनके बारे में उपाय सुलझाने के लिए एक मंत्रालय स्थापित किया जाता है और वह यही मंत्रालय है जो ग्रामीण विभागों के लिए अन्य कई योजनाओं का चयन करता है।

ग्राम सड़क योजना की शुरुआत कैसे हुई ?

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना की शुरुआत 25 दिसंबर 2005 से हुई थी। यह योजना पूरी तरह से केंद्र सरकार के नियंत्रण में होती है इस योजना का सारा निधि केंद्र सरकार द्वारा राज्य सरकार को दिया जाता है।

इंद्रिय रास्ते के लिए मिलने वाला निधि हाई स्पीड डीजल के यंत्रों के लिए यानी सिर्फ के लिए 50 ℅ निधि इस योजना के लिए उपलब्ध होती हैं इस निधि का उपयोग ग्रामीण विभागों में रिश्ते बनाने के लिए होता है इसके अलावा देशी और विदेशी बहुराष्ट्रीय वित्तीय संस्था भी मदद करती हैं।

प्रधानमंत्रीजी के इस सड़क योजना का उद्देश्य क्या है?

12 महीने अच्छी सड़क बनाकर ग्रामीण क्षेत्र को जोड़ना यह इस योजना का मुख्य लक्ष्य है जैसा कि हम सब जानते हैं ग्रामीण विभागों में सड़क बनाने के तुरंत बाद यानी तीन चार महीने बाद सड़क खराब हो जाती है इसके कारण सरकार का बहुत सारा पैसा खर्च होता है और ग्रामीण विभागों को इससे कोई फायदा नहीं पहुंचता इसलिए 12 महीने अच्छी सड़क रहने के लिए योजना काम करती हैं।

Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana
Pradhan Mantri Gram Sadak Yojana

ग्रामीण सड़क नियोजन की त्रुटियां निधियों का और पर्याप्त और अप्रत्यक्ष अविद्या उपयोग इनके बारे में भी यह योजना काम करती है।

यानी कि भारत सरकार द्वारा उपलब्ध किए गए निधि का सही उपयोग हुआ कि नहीं यह जानने का भी काम यह योजना के अंतर्गत किया जाता है।

और यह योजना ग्रामीण विकास योजना मंत्रालय के अंतर्गत होने के कारण इस मंत्रालय का कर्तव्य होता है कि इसके बारे में जानकारी रखें और समय-समय पर केंद्र सरकार को इसके बारे में सूचित करके ग्रामीण विभागों में जो योजना चला रहा है उसको इसके बारे में योग्य मार्गदर्शन कर योजना का लाभ ग्रामीण विभागों को दें।

इस योजना का मुख्य भाग यह भी है कि मैदानी प्रदेश में 500 की आबादी वाले तथा 250 की आबादी वाले पहाड़ी क्षेत्रों में बाहर माही अच्छी सड़क बनाकर उन्हें जोड़ें।

इस योजना के तहत ग्रामीण सड़कों के निर्माण के लिए हरित प्रतियोगियों का यानी कि बेकार प्लास्टिक शीट मिश्रण जियोटेक्सटाइल फ्लैश लोहा तांबा एक जैसे गैर पारंपरिक सामग्रियों का उपयोग करने का प्रोत्साहन देती है। यानी सड़क बनाते हुए हमें ऐसे गए पारंपारिक सामग्रियों का उपयोग करके उन्हें उपयोग में लाकर खर्चा कम करना और पर्यावरण का नुकसान होने से बचाना इसका मुख्य उद्देश्य है।

ग्रामीण सड़क योजना सड़क के निर्माण की गुणवत्ता तथा प्रगति के संबंध में नागरिकों को शिकायत दर्ज कराने में सक्षम बनाना एवं मोबाइल ऐप मेरे सड़क का अनावरण किया गया था। यानी कि किसी को भी सड़क के प्रति कोई भी समस्या हो तो वह ऑनलाइन या मोबाइल ऐप द्वारा शिकायत दर्ज कर सकता है इससे ग्रामीण विभागों का विकास और उन्हें अधिक जानकारी प्राप्त करने में सुविधा प्राप्त होती है।

प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना को भी 1. 07 लाख किलोमीटर सड़क का उन्नयन के लिए प्रस्तावित किया गया है।

इस योजना में सपोर्ट प्रदेश में रहने वाले लोग और पहाड़ों में रहने वाले लोग उन्हें योग्य सुविधा पहुंचाने के लिए और उन्हें हर सुविधा उपलब्ध करके देने के लिए अच्छे रास्तों की जरूरत होती है और वहां अच्छे रास्ते ना होने के कारण अस्पताल स्कूल और अन्य कई जरूरत की चीजों के लिए सुविधा नहीं पहुंच पाती और देरी से पोस्ट देखें इस वजह से वहां के लोगों को विकास करने में बहुत दुविधा होती है उनका जनजीवन अस्त व्यस्त होता है।

इसीलिए उन गांवों को शहरो से जोड़ना आवश्यक होता है। यह भी संभव हो सकता है जब वह के रास्ते ठीक हो यह योजना इस पर ही काम करती है। और यह रस्ते साल के बाराह महीने ठीक रहे इसकी देखभाल के रखी जाती है। इसके लिए कर्मचारी नियुक्त किए जाते हैं वह है समय-समय पर रास्ते की मरम्मत और उसकी जांच करते हैं और उसका अहवाल केंद्र सरकार और राज्य सरकार वह भेजते हैं। राज्य सरकार उस रिपोर्ट पर विचार करके लगने वाले निधि और सुझाव भेजती है और उसके ऊपर वहां के नियुक्त किए गए कर्मचारी काम करते हैं।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना को मुख्य उद्देश्य सिर्फ ग्रामीण विभागों में रस्ते बना कर देना नहीं है बल्कि वहां की रस्तोगी साल भर देखभाल करना मरम्मत करना और रस्त के बारे में जानकारी रखकर उसे योग्य बनाना और समय-समय पर उसकी मरम्मत करना और उससे लगने वाला निधि केंद्र सरकार को और राज्य सरकार को सूचित करके प्राप्त करना और उसके ऊपर कार्य करना यह होता है।

प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना
प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना

दिसंबर 2015 तक इस योजना के अंतर्गत बनाए जाने वाले रास्तों में से 84% रस्तों का काम पूरा हो गया है।

अन्य योजना अधिक गति से कार्यरत हैं इस योजना का 2020 तक काम पूरा कर देना तय हुआ है यानी कि यह योजना अपने अंतिम चरण में पहुंच गई है। इस योजना से ग्रामीण जनता को बहुत ही लाभ साबित हो सकता है।

loading...

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here