नमस्ते दोस्तों आप सभी का हमारे वेब रफ्तार में स्वागत है। आज हम वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस कैसा होना चाहिए ? के बारे में आपको लाभदाई टिप्स बताने वाले हैं।

आज के समय में हर कोई वास्तु टिप्स के उपाय आजमाते हैं। वास्तु टिप्स का उपयोग सिर्फ घरों में नहीं तो ऑफिस ,कारखाने ,फैक्ट्री सभी स्थानों में किया जाता है।

तो दोस्तों वास्तु शास्त्र में ऑफिस से जुडी कई टिप्स बताए गए हैं, इन टिप्स को आजमाया जाए तो ऑफिस की नकारात्मा दूर हो सकती है और सकारात्मा बढ़ सकती है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस में कैसा वास्तु होना चाहिए ?

अगर ऑफिस में वास्तु दोष होता हैं तो काम में मन नहीं लगता है और तनाव बना रहता है तो आइए जानते हैं ऑफिस से जुड़ी कुछ खास वास्तु टिप्स।

नीचे दिए हुए असरदार टिप्स दूर करेंगे आपके ऑफिस का वास्तु दोष :

वास्तु शास्त्र के अनुसार बॉस का कमरे का वास्तु :

बॉस का कमरे का वास्तु
बॉस का कमरे का वास्तु

वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस के मालिक का कमरा पश्चिम या दक्षिण होना चाहिए। और ऑफिस का मूह उत्तर और पूर्व दिशा रहे तो वास्तु नुसार सही होता है। ऑफिस वास्तु शास्त्र के नुसार बॉस जहा बैठते है अनके पिठ के पिछे खिडकी नहीं होनी चाहीए।

बॉस के पीठ केे पिछे के दिवार पर पहाड अथवा पिछे उंची इमारत का चित्र लगवाने से बॉस और कर्मचारियो या ग्राहक पर की पकड मजबूत बनी रहती है।

ऑफिस मे बॉस के कमरे(केबिन) मे बैठने की जगह नैऋत्य में होनी चाहिए और कमरे (कॅबिन) का आकार आयताकार होना चाहिए।

वास्तु के अनुसार केबिन और रूम कैसे होने चाहिए ?

"<yoastmark

वास्तु शास्त्र में बताए गए नुसार ऑफिस मे बॉस और कर्मचारी के बैठने के स्थान के ऊपर लोहे का बीम नहीं होना चाहिए।

ऑफिस में काम करने वाले कर्मचारी एवं मजदूरों के लिए कमरा हमेशा पश्चिम क्षेत्र में बनाना चाहिए। ऐसा करने से कर्मचारी निष्ठा से कार्यों को सम्पादित करते हैं।

वास्तु के अनुसार ऑफिस के सभी कैबिन के द्वार अंदर की ओर ही खुलने चाहिए।

ऑफिस मे कॉन्फ्रेंस/मीटिंग हॉल वायव्य कोण उत्तम ऱहेगा और  वेटिंग रूम बनाना है तो इसके लिए भी वायव्य कोण शुभ माना गया है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस का रंग कैसा हों ?

वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस का रंग
वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस का रंग
  • ऑफिस के दिवारो का रंग हल्का हो और टेबल क्लाथ,परदे सब हल्के रंग के होना चाहीए ।ऑफिस मे दीवारों के रंग छत के रंग से अलग होना चाहिए ।
  • ऑफिस में कभी भी गहरा या हरा रंग का प्रयोग न करें। यह रंग रोशनी अधिक खाता है। सफेद, क्रीम या पीला जैसे हल्के रंग का उपयोग करना शुभ होता है।

वास्तु के अनुसार ऑफिस में डेकोरेशन कैसे होना चाहिए ?

वास्तु के अनुसार ऑफिस में डेकोरेशन
वास्तु के अनुसार ऑफिस में डेकोरेशन
  • मछलीघर या  फव्वारा ग्राहकों और मेहमानों पर सुखदायक प्रभाव डालता है।ऑफिस के परिसर के तुलना में मछली का मछलीघर पूर्वोत्तर कमरा सबसे अच्छा स्थान है वास्तु शास्त्र के अनुसार।
  • ऑफिस मे जहाज ठहरे या डूबता सूरज की पेंटिंग ना लगाए और निराश करने वाले चिजे भी ना रखे।
  • ऑफिस मे वास्तु दोष हो तो प्रवेश द्वार में भगवान गणेश की मूर्ति स्थापित करे और विंड चाइम लटकाए ये करने से सकारात्मक ऊर्जा को बढ़ावा मिलता है और वास्तु दोष खतम हो जाता है। इस उपाय से काम से संबंधित तनाव को कम करता है और जो ग्राहक एक बार गए हैं, उनके फिर से आने की संभावना है।

वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस में आवश्यक चीजों की जगह :

ऑफिस में आवश्यक चीजों की जगह
ऑफिस में आवश्यक चीजों की जगह
  • शास्त्र मे वायु एवं अग्नी एक-दूजे के पूरक अर्थात मित्र माने जाते हैं। अगर ऑफिस में फायर का स्थान बनाना चाहते हैं, तो उसे दक्षिण-पूर्व या उत्तर-पश्चिम भाग में बनाएं |
  • ट्रांसफार्मर, बिजली संयत्र ,जनरेटर आदि को दक्षिण-पूर्व दिशा के कोने में रखें।
  • ऑफिस का वाहनों का गैराज उत्तर-पश्चिम या दक्षिण-पूर्व मे दिशा में बना सकते हैं।
  • वास्तु शास्त्र के अनुसार ऑफिस में पानी की व्यवस्था ईशान कोने में होनी चाहिए।
  • ऑफिस मे वास्तु के अनुसार शौचालय कभी भी भूखण्ड के कोने में न बनाएं। इसके लिए नैऋत्य व दक्षिण के मध्य का स्थान उपयुक्त है।

ऑफिस में साफ सफाई रखना है जरुरी :

"<yoastmark

यदि ऑफिस में वस्तुओं पर जमा हो रही धूल, जगह-जगह लगे मकड़ी के जाले, काम में ना आ रही बेकार चीजो की साफ़ सफाई करे, तो नकारात्मक ऊर्जा अपने आप ही ऑफिस से बाहर चली जाती है।

जानिए –

वास्तु के अनुसार घर का दरवाजा कैसे होना चाहिए ?

loading...

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *