फिटकरी के चौकानेवाले फायदे और नुकसान की जानकारी

0
फिटकरी
फिटकरी

नमस्ते दोस्तों, आज इस लेख के माध्यम से हम आपको फिटकरी के नुकसान और फायदे की जानकारी देने वाले है। वैसे तो फिटकरी को आलम के नाम से भी जाना जाता है। फिटकरी का केमिकल नाम पोटैशियम एलुमिनियम सल्फेट है।

फिटकरी एक सफेद और चमकीला पत्थर जैसा दिखने वाला क्रिस्टल पदार्थ है। आमतौर पर हम इसे हमारे घर में जो गंदा पानी होता है, उसे साफ करने के लिए इस्तेमाल करते हैं और शेविंग के बाद लोशन तौर पर इस्तेमाल करते हैं, लेकिन इसके कई सारे ऐसे हैरान करने वाले फायदे हैं, जो आपको नहीं पता होंगे। हम आपको इस लेख के माध्यम से उन फायदों के बारे में अवगत कराएं। बिल्कुल सामान्य और पत्थर जैसा दिखाई देने वाला है यह पदार्थ हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक है। यह पत्थरों में पाया जाता है। यह एंटीसेप्टिक एजेंट के रूप में काम करता है। 

फिटकरी के प्रकार :

फिटकरी के प्रकार
फिटकरी के प्रकार

फिटकरी आमतौर पर दो प्रकार की होती है। लाल व सफेद रंग की, लेकिन ज्यादातर तौर पर लोग सफेद फिटकरी का इस्तेमाल करते हैं। फिटकरी के कई सारे प्रकार है और आपको अगर फिटकरी का इस्तेमाल करना है, तो उसके प्रकार के बारे में भी आपको जानकारी होना चाहिए तो चलिए जानते हैं फिटकरी के प्रकार

  1. पोटैशियम एलम
  2. अमोनियम एनम
  3. सोडियम एलम 
  4. क्रोम एलम्स 
  5. एलुमिनियम सल्फेट 
  6. सेलेनियम एलम

फिटकरी के फायदे :

फिटकरी के फायदे
फिटकरी के फायदे

फिटकरी हर एक को पता है, लेकिन इसके अद्भुत फायदे की जानकारी सबको नहीं है। यह स्वास्थ्यवर्धक आयुर्वेदिक गुण-धर्मों से परिपूर्ण पदार्थ है। यह सौंदर्य के लिए तथा घाव को ठीक करने के लिए स्वास्थ्य के लिए और अन्य कई सारी हमारी दैनिक जीवन में जो भी परेशानियां आती है उसके लिए फ़ायदेमंद है। तो चलिए जानते हैं यह हमारे लिए कैसे लाभदाई है।

नकसीर :

नकसीर यानी की नाक से खून निकलना जिन किसी को नाक से खून निकलने की समस्या है, उनको गाय के कच्चे दूध में फिटकरी को पीसकर उसमें डाल कर मरीज की नाक में एक से दो बूंद डालना चाहिए इससे उनकी और समस्या जड़ से खत्म होने में सहायता मिलती है। 

दांतों के स्वास्थ्य के लिए :

इसका इस्तेमाल दातों के स्वास्थ्य के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। इसके लिए आपको फिटकरी का माउथवॉश करना चाहिए। इससे आपके दांत मजबूत होकर जो आपकी दातों की समस्याएं वह भी खत्म होती है और आपके दांत मजबूत और तंदुरुस्त रहते हैं। या फिर फिटकरी का पाउडर अच्छे से बारीक बराबर उसे अपने मसूड़ों और दांतों पर हल्के हाथों से रगड़े इससे आपके दांत और मसूड़े मजबूत हो जाएंगे।

मुंह की बदबू दूर करने के लिए :

बहुत लोगों को यह समस्या होती है, कि उनके मुंह से बदबू आती है और जिससे वह किसी से बात करने से शर्माते हैं। लोग उनसे दूरी बनाए रखते हैं, क्योंकि उनके मुंह से बदबू आती है। इसके लिए आपको फिटकरी का इस्तेमाल करना चाहिए। इससे आपकी मुंह की गंदगी दूर हो जाएगी।

फटी एड़ियों के लिए :

बहुत लोगों को फटी एड़ियों की समस्या होती है। उनको फिटकरी को अच्छे से उबालना है और उसे अच्छे से पिघल जाने के बाद उसमें थोड़ा सा नारियल का तेल डालकर उसे ठंडा होने पर अपने एड़ियों पर लगाएं इससे आपकी फटी एड़ियों की समस्या खत्म हो जाएगी।

सूजन के लिए :

यदि आपके हाथों मैं या पैरों में सूजन हो गई है तो गुनगुने पानी में फिटकरी का पाउडर एक से दो चम्मच डालकर उसमें अपने हाथों को डाल दे या फिर से के इससे आपके सूजन और तकलीफ़ कम हो जाएगी।

लिंग और योनि में खुजली :

जिन महिलाओं और पुरुषों को योगी या फिर लिंग में खुजली होती है। उनको गर्म पानी फिटकरी मिलाकर गुप्तांगों को अच्छे से धोएं। इससे आपकी खुजली मिट जाएगी और आपको यह समस्या नहीं होगी।

नशे को कम करने के लिए :

यदि किसी ने बहुत ज्यादा नशा कर लिया है और वह नशे में झूल रहे और हालत बहुत खराब है, उनको एक गिलास पानी में थोड़ा सा फिटकरी का पाउडर मिलाकर उनको पिला दीजिए। इससे उनका नशा जल्द से जल्द उतरने में सहायता होती है।

मुंह के छालों से छुटकारा पाने के लिए :

यदि आपके मुंह में छाले हो गए हैं, तो फिटकरी को गुनगुने पानी में मिलाकर दिन में दो से तीन बार गरारे करें इससे आपके मुंह के छाले ठीक हो जाएंगे।

जुओं से छुटकारा पाने के लिए :

आपके सर में जुए हो गए हैं, तो आप उसको जड़ से खत्म करने के लिए फिटकरी का इस्तेमाल कर सकते हैं, यह बहुत ही फायदेमंद है, जुए को जड़ से खत्म करने के लिए। इसके लिए आपको फिटकरी पाउडर में नारियल का तेल या फिर टी ट्री ऑयल मिलाकर अपने बालों की मसूड़ों में 10 से 15 मिनट तक मसाज करके इसके बाद शैंपू से धो लेना है।

घाव या फिर खून को रोकने के लिए :

आपके शरीर पर किसी प्रकार का घाव हो गया है, या फिर किसी कारणवश आप को चोट लग गई है और उसके कारण आपके शरीर से खून निकल रहा है, तो आपको फिटकरी को पानी में भिगोकर उस घावपर लगाए। फिर जहां से खून निकल रहा है वहा पर लगाए, नहीं तो फिटकरी का पानी बनाकर उसे उस घाव पर या खून में ही जगह पर लगा लीजिए। इससे आपके घाव ठीक हो जाएगा और जहां से खून बह रहा है वह भी रुक जाएगा।

मांसपेशियों या फिर जोड़ों में दर्द से राहत के लिए :

यदि आप रोजाना सुबह नहाते समय फिटकरी का पाउडर को अपने नहाने के बारे में मिलाते हैं, तो आपके मांसपेशियों का दर्द कम होता है और यदि आपके जोड़ों में दर्द हो रहा है तो फिटकरी का पाउडर पानी में मिलाकर प्रभावित जगह पर लगाएं इससे आपका दर्द कम होता है।

आंखों की फुंसी के लिए :

अगर किसी को आंखों पर फुंसी हो गई है, तो फिटकरी का बारीक पाउडर बनाने और उसे चंदन के साथ घोलकर अपने आंखों की फुंसी पर लगाए। इस बात का ध्यान रखें कि यह आपकी आंखों के बीच में ना जा पाए। इससे आपकी आंखों की फुंसी ठीक हो जाएगी।

आंखों के स्वास्थ्य के लिए :

फिटकरी का इस्तेमाल आप अपनी आंखों के स्वास्थ्य के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे आपकी आंखों में जलन, आंखों आंख लाल होना, आंख दुखना, या फिर आंख को साफ करने के लिए आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं।

शेविंग के बाद एंटीसेप्टिक के तौर पर इस्तेमाल किया जाता है :

शेविंग के बाद अगर आप फिटकरी को पानी में भीगो कर अपने चेहरे पर लगाते हैं, तो इससे यह किसी भी तरह का इंफेक्शन होने से बचाती है। या फिर आपको यदि चोट लग गई है, तो उसकी कारण घाव हो गया या फिर खून निकल रहा है तो यह उससे छुटकारा दिलाती है।

चेहरे के सौंदर्य बढ़ाने के लिए :

आपके चेहरे पर हुई झाइयां झुर्रियां और दाग धब्बे मिटाने के साथ-साथ यह आपके चेहरे को गोरा और सुंदर बनाने का काम करती है, क्योंकि इसमें एंटी एजिंग प्रॉपर्टी होती है। यह कई सारे सौंदर्य प्रसाधनों में इस्तेमाल होती है।

फिटकरी के नुकसान :

फिटकरी के नुकसान
फिटकरी के नुकसान

फिटकरी को शरीर के बाहरी हिस्से में लगाने से कोई भी नुकसान नहीं है, लेकिन यदि इसका आंतरिक प्रयोग करना है, तो आपको इसके लिए डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। यदि फिटकरी का अतिरिक्त मात्रा में सेवन किया जाए तो फेफड़ों, आंतों की बीमारी की और अल्सर जैसी बीमारियों से सामना करना पड़ सकता है। फिटकरी का प्रमाण अगर अतिरिक्त हो गया तो यह हमारे आंखों में जलन पैदा करती है, और यदि हम अपने चेहरे या त्वचा पर फिटकरी का ज्यादा इस्तेमाल करें तो इससे हमें त्वचा पर जलन महसूस होती है। यदि से अतिरिक्त मात्रा में पानी में घोलकर किया जाए तो यह हमारे गले में खराश पैदा कर सकती है और इससे हमें खांसी भी हो सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here