बुखार के आसान घरेलू नुस्खे बुखार होने के कारण और उसके लक्षण

0
बुखार
बुखार

बुखार एक ऐसी बीमारी है। जिससे इंसान के शरीर का तापमान सामान्य तापमान से बढ़ जाता है। और शरीर में उष्णता उत्पन्न करता है। इसमें आपको ठंडी लगती है। और गला सूख जाता है। यह वातावरण मे मौजूद वायरल कीटाणु की वजह से आपके शरीर में हवा के सहायता से प्रवेश करते हैं। और एक या 2 दिन में इसका प्रभाव तुरंत हो जाता है। कभी-कभी कीटाणु इतने प्रभावशाली होते हैं कि, कुछ ही घंटों में आपको बुखार हो जाता है। जिन लोगों की रोग प्रतिकारक शक्ति कम है। उन लोगों को यह बीमारी ज्यादातर हो जाती है।

छोटे बच्चों की रोग प्रतिकारक शक्ति बहुत कम होती है। इसके लिए बुखार बच्चों को बहुत जल्दी हो जाता है। इंसान के शरीर में रोग प्रतिकारक शक्ति कम क्यों होती है? क्योंकि कभी-कभी इंसान के शरीर में खून की कमी हो जाती है। या फिर हम अपने खाने पीने का ध्यान नहीं रख पाते हैं, या ऐसे पोषक तत्व का सेवन नहीं करते हैं। जो हमारे शरीर की रोग प्रतिकारक शक्ति को बढ़ाकर हमें बुखार जैसी बीमारी को दूर रखें।

बुखार में बहुत कमजोरी महसूस होती है, चक्कर आना, सिर का भारी होना, बदन दर्द होना और उल्टी जैसा महसूस होता है। अगर आपका बुखार बहुत ज्यादा हो जाएगा तो आपको अपने डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए। यदि आपका बुखारा सामान्य है। तो आप घर पर ही उसका घरेलू नुस्खे से इलाज कर सकते हैं।

इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएँगे कि बुखार होने के कारण क्या है? उसके लक्षण और ऐसे कौन से घरेलू नुस्खे है जिसके इस्तेमाल कर सकते हैं।

बुखार होने के कारण :

"<yoastmark

वातावरण में प्रदूषण होने के कारण मौजूद वायरल कीटाणु आपके शरीर में प्रवेश करके यह वायरल फीवर के रूप में एक समस्या बन जाती है। यह एक बीमारी है। बुखार से पीड़ित इंसान का शरीर का तापमान ज्यादा बढ़ जाता है। और उसकी अवस्था खराब हो जाते हैं। कभी-कभी फ्रिज का पानी या किसी ठंडे चीज का सेवन करने से भी बुखार हो जाता है।

यदि किसी बुखार पीड़ित व्यक्ति के संपर्क में आने से भी यह तेजी से फैलता है। और यह दूसरे इंसान को भी हो सकता है। आपके परिवार में किसी को बुखार हो गया है। तो उससे थोड़ा दूरी बनाकर रखे। क्योंकि यह बुखार उस व्यक्ति के संपर्क में आने से आपको भी हो सकता है। ज्यादातर जो चीजें पीड़ित व्यक्ति इस्तेमाल कर रहा है। वह आपको इस्तेमाल नहीं करनी है। सभी कपड़े गर्म पानी में भिगो के धोने है। जीससे की कीटाणु मर जाए।

आपको अपने खाने-पीने का भी ख्याल रखना होगा, क्योंकि खानपान और आहार सबसे ज्यादा प्रमुख कारण होता है। किटाणु का आपके शरीर के संपर्क में आने से आपको बुखार होता है। जब आपकी रोग प्रतिकारक शक्ति कम रहती है। तब यह समस्या हो सकती है। सावधानी बरतने के लिए आपकी खानपान में ज्यादा से ज्यादा विटामिंस और मिनरल्स की मात्रा लेनी होगी। जिससे कि आपकी रोग प्रतिकारक शक्ति ज्यादा बढे़।

बुखार के लक्षण :

"<yoastmark

    • बुखार से आंखें लाल हो जाती है।
    • खांसी और जुकाम हो जाता है।
    • शरीर का तापमान सामान्य तापमान से बढ़ जाता है। जैसे कि तापमान 101 से 103 तक बढ़ जाता है। या उससे ज्यादा भी हो सकता है।
    • थकान महसूस होना।
    • गले में खराश होना और कुछ खाने पीने में तकलीफ होना।

 

  • बदन दर्द होना।
  • भूख ना लगना ।
  • नाक का बहना याने की सर्दी हो जाना।
  • चक्कर आना।
  • सर दर्द होना।

इत्यादि बुखार के लक्षण है। बुखार पीड़ित इंसान को अगर ऐसा कुछ होता है। तो उनको तुरंत ही अपने डॉक्टर को दिखाना चाहिए। क्योंकि बुखार कभी-कभी ज्यादा होने से जानलेवा भी हो सकता है।

बुखार के लिए कुछ घरेलू उपाय :

"<yoastmark

बुखार आदि सामान्य है तो आप घरेलू नुस्खे आजमा के उसका इलाज घर पर कर सकते हैं। इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि कौन से ऐसे घरेलू नुस्खे हैं जीसे आप घर पर ही अपना बुखार ठीक कर सकते हैं।

पानी की पट्टियों से :

पानी की पट्टियों से
पानी की पट्टियों से

जब भी किसी को बुखार हो जाता है। तो शरीर का तापमान ज्यादा बढ़ जाता है। उसी को कम करने के लिए हम पानी की पत्तियों का इस्तेमाल करें। किसी भी कॉटन के कपड़े को पानी में भिगो के मरीज के सर पर रखना है। और यहां पट्टी 1 मिनट के बाद निकाल कर फिर से पानी में भिगोकर वह इसके सर पर रखना है।

अगर बुखार कम है तो किसी कॉटन को आप पूरा गिला करके मरीज के शरीर को लगा सकते हो। इससे शरीर का तापमान काम होके बुखार कम होने में मदद होगी।

भुना नमक :

"भुना

भुना नमक से आप आपका बुखार भगा सकते हो। इसके लिए आपको रोजाना खाने मैं नमक इस्तेमाल करते हैं, उसको तवे पर अच्छे से भूनना है। जब तक कि उसका कलर थोड़ा सा काला यानी की कॉफी जैसा ना हो जाए। तब तक अगर आपको ऐसा लगे कि आपको बुखार है। तो यह एक गिलास गुनगुने पानी में एक चम्मच भुना नमक डालकर पी लीजिए। यह आप दिन में दो बार कर सकते हैं जब तक आप को बुखार है। इससे आपका बुखार पूरी तरह से ठीक हो जाएगा।

फलों का सेवन करें :

फलों का सेवन करें
फलों का सेवन करें

फलों में प्रोटीन विटामिंस और मिनरल्स के प्रमाण बहुत ज्यादा मात्रा में होता है। उसी की साथ साथ उसमें एंटी एक्सीडेंट्स पाए जाते हैं।

जो आपके शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। फलों का अपने आहार में समावेश करके आप आपके शरीर की रोग प्रतिकारक शक्ति बढ़ा सकते हो। जिससे आपको कई सारी बीमारियों से लड़ने की ताकत मिल जाएगी। आपका बुखार भी कम होने में आपकी मदद होगी।

पानी :

पानी
पानी

बुखार यदि आपको है, तो आपको बहुत ज्यादा मात्रा में पानी पीना चाहिए क्योंकि इससे आपके शरीर में से कि कीटाणु आपके यूरिन के मार्फत बाहर निकलते हैं। और इससे आपको बुखार ठीक होने में जल्द से जल्द मदद होती है। क्योंकि जब भी बुखार होता है। तो कुछ भी खाने का मन नहीं करता है। या भूख नहीं लगती इसके लिए आपको ज्यादा से ज्यादा पानी पीना बहुत आवश्यक है।

लहसुन बुखार के लिए :

लहसुन
लहसुन

लहसुन की सहायता से आप अपना बुखार कम कर सकते हैं कच्चे लहसुन के टुकड़े का है इससे आपका बुखार कम ओके आपको जल्द से जल्द राहत मिलेगी अगर आपको लहसुन के टुकड़े नहीं खाए जा रहे हैं तो आप इसमें थोड़ा सा शहद मिलाकर भी खा सकते हैं

काली मिर्च और तुलसी का पत्ता :

काली मिर्च और तुलसी का पत्ता
काली मिर्च और तुलसी का पत्ता

7 से 8 काली मिर्च और 10 से 12 तुलसी के पत्ते लेकिन इन्हें अच्छे से पेस्ट बनाकर एकगिलास पानी में ओ मिलने के लिए रख दे पानी को जब तक अच्छे से उबालना है तब तक पानी उबलने दें उसके बाद छन्नी से छान के यह पानी मरीज को पीना दीजिए यह पानी आप दिन में दो से तीन बार पी सकते इससे आपका बुखार जल्द से जल्द ठीक हो जाएगा

नींबू :

"नींबू

नींबू हमारे पैर के तलवे पर घिसने से आपका बुखार कम हो जाएगा यह बहुत ही फायदेमंद घरेलू नुस्खा है आपको सिर्फ नींबू को अपने पैरों के तलवे पर अच्छे से मसाज करना है और उसके बाद पैरों को ढकके सो जाना है |

प्याज बुखार के लिए :

प्याज
प्याज

सोते समय रात में आपको प्याज के गोल टुकड़े कट करके अपने पैरों के तलवों के नीचे रखकर उस पर सॉक्स पहन कर सोना है। आपको रातभर मे ही रहत मिलती है। उसके बाद आप खुद ही सुबह देखोगे कि आपका बुखार कम हो जाएगा और आपका बदन दर्द कम हो जाएग।

अदरक और शहद :

"अदरक

अदरक पेस्ट बनाकर एक चम्मच अदरक का पेस्ट में एक चम्मच शहद मिलाकर यह आप दिन में मुंह से तीन बार खाएं इससे आपका बुखार कम हो जाएगा।

लौंग बुखार के लिए :

"लौंग

एक लौग अपने मुंह में जबाते रहे। या फिर एक से दो लौग को अच्छे से पीस कर गुनगुने पानी में उबालते रहे। और इस पानी को थोड़ा सा ठंडा होने के बाद पीजिए। यह आप दिन में दो से तीन बार करें। इससे आपका बुखार पूरी तरह से कम हो जाएगा और आपको और राहत मिलेगी।

अदरक तुलसी के पत्ते और पुदीने की काढ़ा :

अदरक तुलसी के पत्ते और पुदीने की काढ़ा
अदरक तुलसी के पत्ते और पुदीने की काढ़ा

काढ़ा बनाते समय चार से पांच तुलसी का पत्ते 5 से 6 पुदीने की पत्ते और थोड़ा सा अदरक कद्दूकस करके एक ग्लास पानी में डाल दीजिए। इसे अच्छे से उबालिऐ 5 से 10 मिनट उसके बाद पानी को थोड़ा ठंडा होने के बाद में पीने के लिजीए। यह आप दिन में दो से तीन बार कर सकते हैं। इससे आपका बुखार कम हो जाएगा।

जानिए –

चेहरे का कालापन कैसे हटाए ? जानिए आसान तरीके

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here