डाबर पुदीन हरा के फायदे और नुकसान क्या है ?

0
डाबर पुदीन हरा
डाबर पुदीन हरा

नमस्कार दोस्तों स्वागत है आपका हमारे वेब रफ्तार में आज हम डाबर पुदीन हरा के बारे में जानकारी प्राप्त करने वाले हैं | डाबर पुदीन हारा यह एक अपचन, गैस और एसिडिटी के लिए एक इतेमाल की जाने वाली आयुर्वेदिक दवा है | जिसमें पुदीना मुख्य घटक का इस्तेमाल किया होता है, और इसे आयुर्वेद के जरिये अनुशंसित पेट दर्द, गैस और अपचन जैसी पेट की बीमारियों से त्वरित राहत पाने के लिए डॉक्टर इसके सेवन की सलाह देते है | पुदीन हरा यह दवाई 100% नेचुरल तरीके से बनाई हुई होती है जो इंसान के शरीर के लिए पूरी तरह सुरक्षित होती है | यह दवाई आपको बाजार में किसी भी मेडिकल स्टोर पर आसानी से उपलब्ध हो जाएगी पुदीन हरा के टेबलेट भी मिलते हैं, और यह दवाई औषधि के रूप में भी मिलती है |

डाबर पुदीन हरा कैसे ले ?

डाबर पुदीन हरा टेबलेट
डाबर पुदीन हरा टेबलेट

डाबर पुदीन आ रहा है यह दो प्रकार में मिलता है एक टेबलेट में मिलता है और दूसरा अवश्य के रूप में जो लिक्विड फॉर्म में होता है | आप अगर टेबलेट ले रहे हो तो टेबलेट को दिन में से तीन बार लेना जरूरी होता है सुबह दोपहर में और रात को खाना खाने के बाद आप यह टेबलेट ले सकते हो और पुदीन हरा औषध जो लिक्विड फॉर्म में होता है उसे अगर आप लेते हो तो उसकी 5 – 6 बूंदे एक गिलास पानी में डालकर उसे दो वक्त पीना होता है | आप इस दवाई का सेवन डॉक्टर के सलाह अनुसार भी ले सकते हैं | 

डाबर पुदीन हरा कैसे बनता है ?

डाबर पुदीन हरा बनाने के लिए एंड्रोग्राफिस पेनिक्यूलता, तुलसी,अचिरन्थेस एस्पेरा, लौंगम ,धनिया, एकोरस कैलमस , अल्पिनिया गलंगा जड़ी बूटी इत्यादि आयुर्वेदिक तत्वों का इस्तेमाल करके पुदीन हरा बनाया जाता है | जिसे पुदीन हरा टेबलेट और दवाई यानी सिरप मैं बनाता है |

पुदीन हरा के फायदे क्या है ?

  • यह पाचन को उत्तेजित करता है |
  • इसे लेने से कूलिंग एक्शन बढ़ता है जिससे हमारे पेट में ठंडक मिलती है |
  • इसे लेने से पाचन विकारों को दूर भगा सकते है |
  • पुदीन हरा गैस की प्रॉब्लम को जड़ से उखाड़ फेंकता है |
  • अपचन, उल्टी इन समस्या को भी पुदीन हरा दूर भगा देता है |
  • पेट में सूजन और मतली होने जैसी समस्याओं पर भी पुदीन हरा आसानी से असरदार तरीके से उपाय करता है |

पुदीन हरा कब लेना चाहिए ?

दोस्तों डाबर पुदीन हरा यह आयुर्वेदिक औषध है इसे हो सके तो डॉक्टरों की सलाह अनुसार ले या फिर आपको जब किसी प्रकार का पेट दर्द हो, या गैस हो, या गैसेस के वजह से पेट में सूजन हो, या जब आपको दस्त हो जाए ,और उल्टियां हो, मतली जैसा हो , या आपको अधिक खाने के लिए बेचैनी हो, आपके मुंह से खट्टी डकार आ रहे हो ,तो उस वक्त आपको पुदीन हरा लेना जरूरी है | आप उसे टेबलेट के जरिए ले तो वह बेहतर रहेगा क्योंकि टेबलेट सीधा असर करने लगती है | ऊपर दी गई शारीरिक बीमारियों के ऊपर ही पुदीन हरा का इस्तेमाल करें | इस दवाई को हमेशा कभी भी ना ले अगर आप लगातार इस दवाई का सेवन करते हो, तो आपके शरीर को इस दवाई की आदत हो जाएगी और आप अगर कभी यह दवाई बंद कर दोगे तो आपको बेचैनी हो सकती है |

पुदीन हरा लेने से क्या नुकसान हो सकता है ?

दोस्तों पुदीन हरा यह एक पूरी तरह से हर्बल तरीके से नेचुरल आयुर्वेदिक दवाई बनाई हुई होती है, इसे लेने से किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं होता है | केवल इस दवाई को जब भी जरूरत पड़े तब ही ले हमेशा अगर सेवन करते हो तो इस दवाई की आदत आपकी शरीर को हो जाएगी | यही एक इसका नुकसान है |

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here