पानी पीने के तरीके बदले और हमेशा के लिए तंदुरुस्त रहे।

पानी पीना

यह पांच नियम अपनाएं और सदा चुस्त-दुरुस्त और तंदुरुस्त रहे। पानी पीने के तरीके बदले और हमेशा के लिए तंदुरुस्त रहे :

नमस्ते दोस्तों पहले तो हम जान लेंगे की तंदुरुस्त रहना याने क्या? तंदुरुस्त रहना याने हमारे शरीर के सारे अंग और सारे रसायन और शरीर का सारा सिस्टम बैलेंस रहना। हमारे शरीर में तीन मुख्य रसायन है। वात पित्त कफ यह तीनों रसायनों को हमें बैलेंस बनाए रखना होता है। जिससे हम सदा चुस्त-दुरुस्त और तंदुरुस्त रहे है, लेकिन आज के भागदौड़ के जमाने में यह किसी भी तरह के इंसान को मुमकिन नहीं है। क्योंकि उसके काम करने का टाइम, खाने का तरीका, सोने का तरीका, रोजाना जिए जाने वाली लाइफ़स्टाइल इसकी वजह से वात पित्त और कफ का बैलेंस सही ढंग से नहीं होता है। और हम बीमारियों का शिकार हो जाते है।

पानी पीने के सही तरीके क्या है ?

पानी पीने के सही तरीके
पानी पीने के सही तरीके

तो दोस्तों मैं आज इस टॉपिक के जरिए आपको वात पित्त कफ इन को बैलेंस कैसे बनाएं यह बताने जा रहा हूं। केवल इसके 5 नियम है; जो कि पानी पीने के तरीकों पर निर्भर है। अगर आप इन पांचों नियमों को सही ढंग से और याद से रोजाना जिये जाने वाली लाइफ स्टाइल में समाविष्ट कर लेंगे तो आपको किसी भी तरह का रोग या बीमारी नहीं होंगी।

1. खाने के तुरंत बाद पानी पीना बंद करें

खाने के तुरंत बाद पानी पीना
खाने के तुरंत बाद पानी पीना

दोस्तों आप केवल यह ऊपर दिया गया नियम आपके रोजाना जिंदगी में लागू करेंगे तो आप 100 बीमारियों से दूर रहेंगे। जैसे कि जब हम लोग खाना खाते हैं, तो उस टाइम हमारे पेट के अंदर जो जठर होता है। जहां पर खाना इकट्ठा होता है, उसके अंदर एक ज्वलनशील रसायन होता है। जिसके वजह से खाया हुआ खाना पेट में हजम होने के लिए मदद होती है।

जैसे कि हम लोग खाना पकाने के लिए खाने को गर्म करके पकाते हैं। वैसे ही जठर खाना पचाने के लिए पेट के भीतर खाने को आग से गर्म करता है। अब अगर आप इस दौरान पानी पीते हैं, तो वह ठंडा पानी आपके पेट से जठर में जाकर के उस आग को ठंडा कर देगा और वह भोजन हजम होने के बजाय जठर में ही पड़ा रहेगा। उसी से आपको पेट की बीमारियां हो सकती है। और वात पित्त कफ यह रसायनों का इंबैलेंस हो कर आपको बीमारियों का सामना करना पड़ेगा।

अब आपके मन में सवाल आया होगा की खाने के बाद कितने समय बाद पानी पीए? या खाने से कितने समय पहले पानी पीना उचित रहेगा ? अगर आपको खाने से पहले पानी पीना हो, तो आप खाने से 50 मिनट पहले पानी पी सकते हैं। और खाने के बाद पानी पीना है; तो आपको 1 घंटे बाद पानी पीना है। जिससे 1 घंटे के अंदर खाया हुआ सारा भोजन पाचन हो जाएगा और आपका पेट तंदुरुस्त रहेगा। और पेट के अंदर किसी भी प्रकार की एसिडिटी और गैस होने की कोई भी संभावना प्रकट नहीं होगी।

अगर आपको खाना खाने के तुरंत बाद कुछ पीना है तो क्या पिए ?

खाना खाने के तुरंत बाद आप फलों का रस, या लस्सी, या दूध पी सकते हैं। जिससे खाना हजम होने में मदद होती है।

 2. पानी पीते वक्त घुट-घुट पानी पिये और बैठकर पानी पिये

बैठकर पानी पिये
बैठकर पानी पिये

अब आप बोलोगे की खाना खाने के बाद 1 घंटे बाद पानी पीना अनिवार्य है। अब पानी पीने को तो दे रहे हैं, मगर वह भी घुट घुट क्यों पिए? आप अगर घुट घुट पानी पीते हो तो जब आप पानी का एक घूंट अपने मुंह में लेते हो उस वक्त उस घूंट में मुंह में आने वाली ग्रंथि सलाइवा पानी में मिक्स होकर पेट के अंदर जाती है। जिससे खाना हजम होने में बहुत ही मदद होती है। उस ग्रंथि में एक विशिष्ट प्रकार का एसिड होता है।

जिससे वह पेट के अंदर फायदेमंद साबित होता है। और रही दूसरी बात कि बैठकर पानी क्यों पिये? क्योंकि दोस्तों खड़े होकर जब हम पानी पीते हैं, तो ग्रेविटी के कारण पानी बहुत ही स्पीड से सीधा पेट के अंदर जाता है।

जीससे पेट के अंदर की आग बंद हो जाती है। और मुंह के अंदर की ग्रंथियां उस पानी में मिक्स नहीं होती। और पानी के स्पीड की वजह से हमारे खाना निगलने वाली नली पर तनाव आता है। तो यही कारण है, कि पानी पीते वक्त घुट घुट और आराम से पानी पिए।

3. ठंडा पानी पीना बंद करें :

ठंडा पानी पीना बंद करें
ठंडा पानी पीना बंद करें

अगर आप भोजन के बाद या दिनभर में कभी भी ठंडा पानी पीते हो। या आपको फ्रिज का ठंडा पानी पीना पसंद हो, तो आज से ही अभी से ही ठंडा पानी पीना बंद कर दे। क्योंकि ठंडा पानी हमारे पेट के अंदर की आग को बंद कर देता है। जिससे हमारा पेट ठंडा होता है, और पेट ठंडा होने से हमारे शरीर के सारे नसे धमनी जो खून को प्रवाहित कर रही होती है।

वह ठंडी पड़ जाती है, और हमारा दिल भी इसी कारण ठंडा हो जाता है। अगर दिल ठंडा होता है, तो स्वाभाविक रूप से शरीर भी ठंडा हो जाता है। जिसके कारण हमें दिल का अटैक, या पैरालिसिस जैसी बीमारियों का सामना करना पड़ता है। जिनका इलाज करना बहुत ही मुश्किल होता है।

अगर आपको ठंडा पानी ही पीना है, तो आप मटके का पानी पीने की आदत डाल दे मटके का पानी शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। और उसमें बहुत भारी मात्रा में मिनरल्स का प्रमाण भी अधिक होता है। जो शरीर के लिए फायदामन्द होता है।

4. सुबह जल्दी उठकर भरपेट पानी पिए

सुबह जल्दी उठकर भरपेट पानी पिए
सुबह जल्दी उठकर भरपेट पानी पिए

दोस्तों सुबह उठकर आप अगर पानी पीते हो तो आपको किसी भी प्रकार की बीमारी होने का कोई चांस नहीं है। क्योंकि जब हम रात भर सोते हैं, तो हमारे पेट में एक विशिष्ट प्रकार का एसिड तैयार हो जाता है। और वही एसिड हमारे मुंह में दातों से निकलने वाली ग्रंथियों में भी समाविष्ट हो जाता है। जिससे हमारे पेट के अंदर के बैक्टीरियल वायरस जो होते हैं, वह मर जाते है। तो हमें सुबह जल्दी उठकर पानी पीना जरूरी है।

मुंह में तैयार होने वाली विशिष्ट एसिड को पानी के साथ मिलाकर के पेट के अंदर डालने है। साधारण रूप से देखा जाए तो होता यह है, कि जब हम सुबह जल्दी उठकर पानी पीते हैं। तो मुंह के अंदर की ग्रंथि पानी में मिक्स हो करके हमारे पेट के भीतर चली जाती है। और पेट में पानी जाने की वजह से हमारे पेट में प्रेशर तैयार हो जाता है। जिसके कारण हमें शौच अच्छे से और साफ तरीके से हो जाती है। जिससे हमारे पेट में किसी भी प्रकार का बैक्टीरियल वायरस पैदा नहीं होता है।

अगर आपने सुबह जल्दी उठ कर पानी पिया हो तो उसके 50 मिनट बाद ही कुछ खाए उसके पहले आपने कुछ खाना नहीं है। अगर ऐसा आप रोजाना करते हो तो आपका शरीर बहुत ही शुद्ध हो जाएगा और किसी भी बीमारी को शरीर के अंदर बढ़ने नहीं देगा।

5. रोजाना फलों के रस का सेवन करें :

फलों के रस का सेवन करें
फलों के रस का सेवन करें

दोस्तों अगर आप रोजाना नाश्ते के समय, नाश्ता होने के बाद अगर किसी भी प्रकार के फल का रस पीते हैं। तो वह आपके लिए अमृत साबित होगा। अब आपको फलों का रस मौसम के अनुसार पीना है। जैसे कि गर्मी के मौसम में आप आम का रस पी सकते है, पाइनेपल का रस पी सकते हैं, या तरबूज का रस पी सकते है।

सर्दी के दिनों में आप पपई का जूस पी सकते हैं। या तो संत्री, मोसंबी इन फलों का रस पी सकते है। और बरसात के मौसम में चीकू है, सीताफल होता है, पेरू होता है। सेब है। इसका रस पी सकते हैं।

फलो के सभी रस शरीर के लिए अमृत से कम नहीं है। इसलिए खाने के तुरंत बाद आप फलों का रस का सेवन करते हैं, तो वह भी आपके शरीरी के लिए फायदेमंद साबित होगा। और दिन भर में नाश्ते के समय, या सोने के पहले आप फ़लों का रस पीकर के सोते हैं। तो वह भी आपके लिए फायदेमंद साबित होगा।

जानिए –

घर पर बॉडी कैसे बनाएं ? आसान तरीके 

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *